Tuesday, October 26, 2021

प्रदेश

एडिटरस नोट

श्रीरामचरित और हमारा मानस

पंकज मुकाती (संपादक पॉलिटिक्सवाला ) नौ दिन तक दुर्गोत्सव की धूम रही। इसके पहले पितरों को श्रद्धांजलि। उससे पहले श्री गणेश उत्सव। यानी पिछले...

अरुणोदय पर पूर्णीविराम !

अरुण यादव में राजनीतिक चातुर्य और दूरदर्शिता दोनों ही नहीं है। वे शातिर होना चाहते होंगे, पर ये उनके बस की बात नहीं। इस...

मध्यप्रदेश- शिव अब भी शक्ति

शिवराज सिंह चौहान के पक्ष में दो बातें बेहद मजबूत हैं, एक तो उनका सबके साथ बने रहना। दूसरा भाजपा को अभी भी ऐसा...

मसखरों ने कर दिया राजनीति का सत्यानाश

  पंकज मुकाती पंजाब में कांग्रेस के मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दिया। क्रिकेट से लॉफ्टर शो और फिर राजनीति में आये नवजोत सिद्धू अब पंजाब...

खेलो इंडिया, शाबाशी नेताजी लेंगे

पंकज मुकाती ओलिंपिक में भारत ने कई पदक जीते। भारतीय हॉकी की रौनक फिर लौटी। पुरुषों ने कांस्य पदक जीता। ये कारनामा पूरे 41 साल...

ताकाझांकी का ‘सौदा’- जासूसी से बेपर्दा ‘जनतंत्र ‘

  देश में पत्रकारों, नेताओं और अफसरों की जासूसी हो रही है। पेगासस सॉफ्टवेयर सिर्फ सरकारें ही खरीद सकती है, पर भारत सरकार खामोश है।...

विशेष

  आखिर हिंदुस्तान में कब तक धार्मिक अराजकता का खेल चलता रहेगा। मस्जिदों की अजान से निजी ज़िंदगी में जितना खलल पड़ता होगा उतना ही अखंडपाठ से भी। सड़कों पर ट्रैफिक रोककर नमाज नाजायज है तो पटाखे चलाना भी कोई जिम्मेदारी का काम नहीं। आखिर ये सब कैसे रुकेगा ? सुनील...
  विजय मनोहर तिवारी (सूचना आयुक्त, मध्यप्रदेश ) तालिबान के नाम से कुख्यात इस्लामी आतंक के इस नए संस्करण के हाथों 2001 में अफगानिस्तान में बामियान के बुद्ध की डेढ़ हजार साल पुरानी मूर्तियों को बारूद से उड़ाते हुए दुनिया ने देखा था। 1996 में जब इस हिंसक समूह के आतंकियों...
कल्याण सिंह नरेंद्र मोदी से भी पहले से हिन्दू हृदय सम्राट रहे हैं। राममंदिर के लिए अपनी सत्ता, सियासत कुर्बान करके भाजपा को दिल्ली की सत्ता का कल्याणी मार्ग भी इस पिछड़े नेता की बदौलत मिला पर अगड़ों की भाजपा ने कल्याण को बड़ी निर्ममता से बाहर किया। संजीव आचार्य...

देश

आखिर हिन्दू होने पर शर्मिंदा क्यों है स्वरा

  बॉलीवुड अभिनेत्री स्वरा भास्कर एक बार फिर हिंदू धर्म के विरोध में दिए बयान को लेकर खबरों में हैं। इस बार उन्होंने कहा है...

धर्म की अराजकता का अंतहीन हिंसक मुकाबला जारी

यह सिलसिला बढ़ते ही चल रहा है, किसी भी धर्म स्थल को सडक़ तक कब्जा करते देखा जा सकता है,  वहां आने वाले लोगों...

क्या विदेशी मंत्री के रूप में जयशंकर नाकाम रहे हैं?

प्रभु चावला (वरिष्ठ पत्रकार ) "राजनयिक अच्छे मौसम में उपयोगी होते हैं। लेकिन बारिश की हर बूंद में वे डूबते चले जाते हैं।" -  चार्ल्स...

वीडियो खबरें