भरोसे की डोर .. बीच सभा में मंच पर आकर महिलाओं ने कमलनाथ को बांधी राखी , जीत का दियाआशीर्वचन


 

इंदौर। ग्वालियर-चम्बल में पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ के प्रति लोगों का भरोसा लगातार बढ़ रहा है। सभाओं में भाजपा के नेताओं खासकर सिंधिया से ज्यादा भीड़ कमलनाथ की सभाओं में उमड़ रही है। कमलनाथ पर तमाम जुमले उछालने के बावजूद भाजपा को कोई समर्थन नहीं मिल रहा है। करैरा विधानसभा में सभा के दौरान पूर्व मुख्यमंत्री को मंच पर आकर महिलाओं ने राखी भी बांधी।

चुनावी सभा के बीच महिलाओं को मंच की तरफ आता देखकर कमलनाथ ने अपना सम्बोधन रोका। फिर महिलाओं से राखी बंधवाई। महिलाओं ने कमलनाथ के प्रति अपनी भावना व्यक्त की। उन्होंने नाथ की जीत की भी कामना की। खुद कमलनाथ भी बहनों से मिले इस सम्मान से अभिभूत दिखे।

28 सीटों के उपचुनाव के लिए दोनों ही दलों का प्रचार अब अपने शबाब पर है। गद्दार और बिकाऊ के नारों के बीच यहां का चुनाव कमलनाथ के प्रति भरोसा जताता दिख रहा है।

राजनीतिक विश्लेषकों के अनुसार इलाके की जनता कमलनाथ के सरकार के बीच में इस तरह से गिराने से खफा है। लोग इसे कमलनाथ के साथ अन्याय के तौर पर देखते हैं।

कमलनाथ ने यहाँ कांग्रेस प्रत्याशी प्रगीलाल जाटव के समर्थन में सभा को सम्बोधित किया। बाबा साहब ने संविधान बनाया था और यह प्रावधान किया था कि यदि किसी विधायक या सांसद का निधन हो जाता है तो उपचुनाव होंगे लेकिन आज सौदेबाजी और बोली के कारण उपचुनाव हो रहे हैं। एमपी में 28 उपचुनाव में से 25 उपचुनाव किसी के निधन के कारण नहीं बल्कि सौदेबाजी के कारण हो रहे हैं।

 

Related story.

स्त्री अपमान की चुनावी मैराथन … नैतिकता के नाम पर सार्वजनिक मंचों पर गूंजते निर्लज्जता के आयटम गीत

 

बोले -27 लाख किसानों का कर्ज माफ़ किया
कमलाथ ने कहा कि किसान का जन्म कर्ज में होता है और मृत्यु भी कर्ज में होती है। हमने कर्जमाफी की शुरूआत की थी, डिफाल्टर के साथ चालू खातों का कर्जा भी माफ किया था। हमने 27 लाख किसानों का कर्जा माफ किया इस बात को भाजपा सरकार नें विधानसभा में स्वीकार किया। शिवराज सिंह और ज्योतिरादित्य सिंधिया कर्जमाफी को लेकर झूठ बोल रहे हैं।अगर हमारी सरकार दोबारा बनेगी तो हम किसानों का 2 लाख तक का कर्जा माफ करेंगे।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments