ग्वालियर में गूंजा गद्दार सिंधिया वापस जाओ !


 

ग्वालियर में शनिवार को ज्योतिरादित्य सिंधिया के खिलाफ जो प्रदर्शन हुआ, उसने ये साबित कर दिया कि ग्वालियर-चम्बल में राह आसान नहीं, हार की स्थिति में सिंधिया तो दिल्ली दरबार में राज करेंगे, समर्थकों का क्या होगा

https://www.youtube.com/watch?v=ou09oCn5EH8

दर्शक

इतिहास खुद को दोहराता है। ग्वालियर में यही होता दिख रहा है। गद्दारी की सजा देश निकाला पहले भी ग्वालियर की जनता ने दिया है। इस बार फिर वैसे ही हालात बन रहे हैं। आज़ादी के पहले देश से गद्दारी कर ब्रिटिश हुकूमत के क़दमों में पाला बदलने वाले सिंधिया घराने को घुटने टेककर विदेश जाकर शरण लेनी पड़ी थी।

आज़ादी के बाद जनता ने फिर इस परिवार को अपना लिया सिर माथे पर बैठाया। पर नई पीढ़ी के युवा श्रीमंत ज्योतिरादित्य सिंधिया ने एक बार फिर हुकूमत के क़दमों में झुकने के लिए अपनी मातृ पार्टी कांग्रेस से गद्दारी की। जब सिंधिया शनिवार को भाजपा के सदस्यता अभियान के लिए ग्वालियर पहुंचे तो हजारों की संख्या में कार्यकर्ताओं ने गद्दार सिंधिया वापस जाओ के नारे लगाए।

इसके पहले सिंधिया के करीबी तुलसी सिलावट और राजयवर्धन सिंह दत्तीगांव, गिरिराज दंडोतिया को अपने-अपने इलाकों में जनता की नाराजगी का सामना करना पड़ा है। लगता है इस बार सिंधिया को ग्वालियर छोड़कर न जाना पड़ जाए।

ग्वालियर में भाजपा का तीन दिवसीय सदस्यता समारोह आज से शुरू हुआ । सिंधिया से नाराजी के चलते कांग्रेस के कई नेता और आम लोगों ने सिंधिया के सामने काले झंडे दिखाकर सड़क पर करीब एक घंटे तक प्रदर्शन किया। गद्दार सिंधिया वापस जाओ के नारों की गूंज सिंधिया महल तक सुनाई दी।

मालूम हो कि ज्योतिरादित्य सिंधिया पूरे तीन महीने बाद अपने गृह नगर आये हैं।कांग्रेस छोड़कर भाजपा में शामिल होने के बाद से वे यहां नहीं आये। कांग्रेस उन्हें बार बार ग्वालियर-चम्बल आने की चुनौती देती रही है। इसके पहले इंदौर में चिंटू चौकसे ने सिंधिया को काले झंडे दिखाने की कोशिश की थी। उस वक्त के पुलिस की क्रूरता के फोटो और वीडियो बड़े चर्चा में रहे।

तीन दिन बीजेपी की सदस्यता, कांग्रेस का धरना
कांग्रेस भाजपा के इस सदस्यता अभियान का विरोध कर रही है कांग्रेस का कहना है कि कोरोना काल चल रहा है। ऐसे में भाजपा का सदस्यता अभियान लोगों की जान को खतरे में डाल सकता है।

विरोध के चलते तीन दिनों तक कांग्रेस ने धरना देने की घोषणा की है। आज पहले दिन सुबह गांधी प्रतिमा के नीचे फूलबाग पार्क में धरना देने की कांग्रेस ने घोषणा की है लेकिन पुलिस ने कांग्रेस नेताओं को रास्ते में बैरिकेट लगाकर रोक लिया। इस दौरान पुलिस और कांग्रेस नेताओं की हल्की झड़प भी हुई।

जिसके बाद पुलिस ने धरना स्थल पर बढ़ रहे बहुत से कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर लिया। कांग्रेस ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा कि ग्वालियर चंबल संभाग के हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं को घर से उठाकर थाने में बैठाने की खबर है। शिवराज जी मध्यप्रदेश में घोषित आपात काल लगाया है या अब जयचंदी इतनी अधिक सवार हो गई कि जनता से डर लग रहा है।


4.5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments