सरकार के काम खूब की तारीफ पर सीएम का चेहरा छिपा गये शाह


इस बार की जीत कुशाभाऊ और राजमाता को समर्पित होगी
शाह ने अच्छे कामों का श्रेय भी शिवराज नहीं पार्टी को दिया

भोपाल। शिवराज सिंह चौहान के कुर्सी अब मेरी नहीं मज़ाक के 24 घंटे बाद वे अमित शाह के साथ थे. भोपाल में बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह विधानसभा चुनाव का एलान करने आये. कार्यकर्ताओं के बीच उन्होंने शिवराज के काम की तो बहुत तारीफ़ की, पर इसका श्रेय शिवराज को नहीं दिया. शाह ने मध्यप्रदेश सरकार के काम को सराहा पर इसके पीछे मुख्यमंत्री नहीं बीजेपी की ताकत को बताया. शाह ने
दो लाइन साफ़ कर दिया कि अगला चुनाव पार्टी संगठन के नाम से लड़ा जाएगा. इसे और आगे बढ़ाते हुए वे बोले इस बार की जीत कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता को समर्पित होगी. एक तरह से अमित शाह ने ये साफ़ कर कि बीजेपी अगला चुनाव शिवराज के चेहरे पर नहीं लड़ेगी, और उन्हें उन्हें मुख्यमंत्री भी प्रोजेक्ट नहीं किया जायेगा।
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने मध्यप्रदेश के कार्यकर्ताओं से कहा कि इस बार के चुनाव की जीत कुशाभाऊ ठाकरे और राजमाता विजयाराजे सिंधिया को समर्पित करना है। शाह ने कहा कि भाजपा यह चुनाव संगठन के आधार पर लड़ेगी, वे स्वयं निश्चित रूप से हर जिले में कार्यकर्ताओं के बीच पहुंचेंगे।

शाह ने कार्यकर्ताओं से कहा कि मध्यप्रदेश की जिन दो लोकसभा सीटों पर कांग्रेस जीतती है उन दोनों क्षेत्रों की पूरी सीटें भाजप जीतेगी यह काम हम चुनौती के रूप में स्वीकार करते हैं। वे छिंदवाड़ा और ग्वालियर सीटों की ओर इशारा कर रहे थे जो कमलनाथ और ज्योतिरादित्य सिंधिया की परंपरागत सीटें बन चुकी हैं।उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने मध्यप्रदेश में कमलनाथ के रूप में कारपोरेट कल्चर का अध्यक्ष बना कर यह तय कर दिया कि यह चुनाव कारपोरेट, राजा महाराजा बनाम किसान और आमजन के बीच लड़ा जाएगा जिसमें भाजपा किसान और आमजन का प्रतिनिधित्व कर रही है।
अमितशाह ने प्रदेश भर से आए कार्यकर्ताओं के बीच कहा – मध्यप्रदेश बीमारू राज्य की श्रेणी से निकल कर देश की सर्वाधिक जीडीपी वाले विकसित राज्यों की श्रेणी में शामिल हो सका है। यह शिवराज सिंह की सतत मेहनत का परिणाम है।
शाह ने एंटीइंकबेंसी के फेक्टर को नकारते हुए कहा कि मैं तटस्थ समीक्षक की हैसियत से यह कह रहा हूं , एंटीइंकम्बेंसी उन राज्यों में काम करती है जहां का नेतृत्व सत्ता भोगने के लिए सत्तारूढ़ होता है। अमितशाह ने कहा कि प्रदेश में हमारे एक करोड़ कार्यकर्ता हैं जिनमें से 65 लाख कार्यकर्ताओं को पूरे डाटा और कार्ययोजना के साथ पोलिंग बूथों की जिम्मेवारी आवंटित की जा चुकी है। ऐसा एक भी घर और मतदाता शेष नहीं होगा जिससे भाजपा का कार्यकर्ता संपर्क करके उपलब्धियों के आधार पर वोट देने की प्रार्थना न कर ली हो।

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर हिंदू संस्कृति और धर्म को बदनाम करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उन्हें इसके लिए देश से माफी मांगना चाहिए. शाह ने यहां भेल दशहरा मैदान में पार्टी की मध्यप्रदेश स्तरीय विस्तारित बैठक को संबोधित करते हुए कहा कि गांधी और कांग्रेस के अन्य नेता देश को धर्म और जाति के नाम पर बांटने का प्रयास कर रहे हैं. गांधी ने हिंदू धर्म और सनातन परंपरा को बदनाम करने का कार्य किया है. इसके लिए गांधी को देश से माफी मांगना चाहिए ।शाह ने कहा कि कांग्रेस नेताओं को संवैधानिक संस्थाओं पर भी विश्वास नहीं है. वे ऐसी संस्थाओं को भी बदनाम करने की नीयत से उन पर हमले कर रहे हैं. लेकिन वे अभी तक अपने मंतव्य में सफल नहीं हो पाए हैं. उन्होंने कहा कि भाजपा कार्यकर्ता कांग्रेस के ऐसे मंसूबों को सफल होने भी नहीं देंगे. शाह ने कहा कि कांग्रेस इस वर्ष के अंत में इस राज्य में होने वाले विधानसभा चुनाव में भी विजय हासिल नहीं कर पाएगी. यह चुनाव उद्योगपति, राजे महाराजे और भाजपा के किसान तथा आम व्यक्ति के बीच होगा ।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments