बड़े लक्ष्यों पर काम कर रहा भारत

पीएम मोदी ने रानी कमलापति रेलवे स्टेशन’ का किया उद्घाटन

भोपाल। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सोमवार को भोपाल में पुनर्विकसित ‘रानी कमलापति रेलवे स्टेशन’ का उद्घाटन किया। इसके साथ ही प्रधानमंत्री ने मध्य प्रदेश में भारतीय रेलवे की कई परियोजनाओं को राष्ट्र को समर्पित किया।

इस मौके पर पीएम मोदी ने कहा कि आज का दिन भोपाल और मध्य प्रदेश के साथ साथ पूरे देश के लिए गौरवपूर्ण इतिहास और वैभवशाली भविष्य के संगम का दिन है। भारतीय रेल का भविष्य कितना आधुनिक और उज्जवल है, इसका प्रतिबिंब भोपाल के इस आधुनिक स्टेशन पर जो भी आएगा, उसे दिखाई देगा।

प्रधानमंत्री ने कहा कि भोपाल के इस रेलवे स्टेशन का सिर्फ कायाकल्प ही नहीं हुआ है बल्कि रानी कमलापति जी का नाम इससे जुड़ने से इसका महत्व और भी बढ़ गया है। रेलवे स्टेशन के पूरे ईको सिस्टम को इसी प्रकार ट्रांसफार्म करने के लिए आज देश के 175 से अधिक रेलवे स्टेशनों का कायाकल्प किया जा रहा है। आत्मनिर्भर भारत के संकल्प के साथ आज भारत आने वाले वर्षों के लिए खुद को तैयार कर रहा है और बड़े लक्ष्यों पर काम कर रहा है।

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि जब हम मास्टर प्लान को आधार बनाकर चलेंगे तो देश के संसाधनों का भी सही उपयोग होगा। पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान के तहत सरकार अलग अलग मंत्रालयों को एक प्लेटफॉर्म पर ला रही है। बीते सात वर्षों में हर वर्ष औसतन 2,500 किमी ट्रैक कमीशन किया गया है जबकि उससे पहले के वर्षों में ये 1,500 किमी के आस-पास ही होता था। पहले की तुलना में इन वर्षों में रेलवे ट्रैक के बिजलीकरण की रफ्तार पांच गुना से अधिक हुई है।

पीएम मोदी ने कांग्रेस की अगुवाई वाली तत्कालीन यूपीए सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पहले रेलवे को टूरिज्म के लिए यदि उपयोग किया भी गया तो उसको एक प्रीमियम क्लब तक ही सीमित रखा गया। पहली बार सामान्य मानवी को उचित राशि पर पर्यटन और तीर्थाटन का दिव्य अनुभव दिया जा रहा है। सरकार की ओर से रामायण सर्किट ट्रेन की शुरुआत ऐसा ही एक अभिनव प्रयास है।

  • मोदी ने कहा क गोंडवाना के गौरव से आज भारतीय रेल का गौरव भी जुड़ गया है। ये भी ऐसे समय में हुआ है, जब आज देश जनजातीय गौरव दिवस मना रहा है। इसके लिए मध्य प्रदेश के सभी बहन-भाइयों को बहुत बधाई। जब देश में ईमानदारदी से प्रयास होते हैं, तो सुधार होता ही होता है।
  • आज देश के पौने दो सौ से अधिक स्टेशन का कायाकल्प किया जा रहा है। आत्मनिर्भर भरत के संकल्प के साथ भारत आने वाले सालों के लिए खुद को तैयार कर रहा है। बड़े लक्ष्यों पर काम कर रहा है। आज का भारत आधुनिक भारत के निर्माण के लिए रिकॉर्ड इन्वेस्टमेंट कर रहा है।
  • हाल में शुरू हुआ पीएम गतिशक्ति नेशनल मास्टर प्लान इसी संकल्प की सिद्धि में देश की मदद करेगा। इन्फ्रॉस्ट्रक्चर से जुड़ी सरकार की नीतियां हों, प्रोजेक्ट्स की प्लानिंग हो, गतिशक्ति सभी का मार्गदर्शन करेगा। जब हम मास्टर प्लान को आधार बनाकर चलेंगे तो देश के संसाधनों का भी सही उपयोग होगा। इसके तहत सरकार अलग-अलग मंत्रालयों को एक प्लेटफॉर्म पर ला रही है।

लोकार्पण कार्यक्रम को संबोधित करते हुए रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने रानी कमलापति रेलवे स्टेशन को देश का सर्वश्रेष्ठ बताते हुए कहा कि स्टेशनों में स्टेशन, रानी कमलापति स्टेशन। उन्होंने कहा कि भोपाल मेट्रो को रानी कमलापति स्टेशन से इंटीग्रेट किया जाएगा। उन्होंने कहा कि रानी कमलापति का नाम जुड़ने से गोंड गौरव भारतीय रेलवे से जुड़ा है। एक जमाना था, जब रेलवे के प्रोजेक्ट को ड्राइंग बोर्ड से जमीन पर उतरने में सालों साल लग जाते थे। मैंने पिछले दिनों समीक्षा की तो एक प्रोजेक्ट 40 साल से कागजों पर है। अब यह काम भी मुझे ही करना पड़ेगा, मैं करूंगा, यह भरोसा देता हूं।

इस स्टेशन की खासियत यह है कि यहां एंटर होते ही एयरपोर्ट जैसा फील आएगा। यहां पर करीब 2000 लोग एक साथ बैठ सकेंगे। मॉडर्न टॉयलेट, क्वालिटी फूड, म्यूजियम और गेमिंग जोन की भी यहां सुविधा है। स्टेशन पर जल्द ही स्पा भी खुलेगा।

  • मध्यप्रदेश की दिखेगी झलक : इस रेलवे स्टेशन में मध्यप्रदेश के पर्यटन और दर्शनीय स्थलों, जैसे भोजपुर मंदिर, सांची स्तूप और भीमबैठका के चित्र प्रदर्शित होंगे। स्‍टेशन के मेन गेट के अंदर दोनों ओर की दीवारों पर भील, पिथोरा पेंटिंग्स भी होंगे। जनजा‍तीय शिल्‍पकला पेपरमेशी से बनाए गए जनजातीय मुखौटे को मुख्य गेट के सामने की वॉल पर लगाया गया है। फर्स्ट फ्लोर पर टूरिस्ट इंफॉर्मेशन लाउंज में एक बड़ी LED स्क्रीन इंस्टाल की गई है, जिससे यात्रियों और पर्यटकों को प्रदेश के पर्यटन स्‍थलों की संपूर्ण जानकारी मिल सकेंगी।

रोजाना 40 हजार यात्रियों का ट्रैफिक यात्रियों का आना-जाना होगा।

स्टेशन एक नजर में : स्टेशन परिसर का एरिया 23 हजार वर्ग मीटर है। 17 हजार वर्ग मीटर जमीन कमर्शियल उपयोग के लिए है।

  • इस जमीन पर शॉपिंग कॉम्प्लेक्स, हॉस्पिटल, सिनेमा, होटल और दुकानें बन रही हैं। डेवलपर का 45 साल तक यह जमीन लीज पर दी गई है।
  • डेवलपर को यात्री सुविधा वाले हिस्सों की देखरेख और रखरखाव पांच साल तक करना होगा।

शिवराज सिंह चौहान ने कांग्रेस पर साधा निशाना : मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ और दिग्विजय सिंह पर निशाने साधे। उन्होंने कहा कि जो कभी कहते थे कि BJP आदिवासी विरोधी है, आज वही इस सम्मेलन को फिजूल खर्च बता रहे हैं।

मुख्यमंत्री ने करीब 20 मिनट भाषण दिया। इस दौरान उन्होंने भारत माता के जयघोष के बाद भगवान बिरसा कहकर शुरुआत की। रानी कमलापति की जीवनी सुनाई। वैक्सीन, डीजल पेट्रोल पर टैक्स ड्यूटी घटाने, फ्री राशन, डीएपी के दाम कम कराने के लिए प्रधानमंत्री मोदी का धन्यवाद दिया।

भाषण में 30 से अधिक बार प्रधानमंत्री मोदी का जिक्र किया। उन्होंने भाषण के बीच में कहा कि वैक्सीन का डोज नहीं, प्रधानमंत्री ने जिंदगी का डोज दिया। डीजल-पेट्रोल की कीमतें घटाने के फैसले को ऐतिहासिक करार दिया तो गांव-गांव बिजली पहुंचाने को चमत्कार बताया।

  • सीएम ने कहा रानी कमलापति के गौरवशाली इतिहास को अंग्रेजों और कांग्रेस ने कभी सामने नहीं आने दिया। कांग्रेस को हमेशा एक ही परिवार को श्रेय देने वाला बताया। उन्होंने राशन आपके द्वार योजना का ऐलान किया। कहा कि इससे ग्रामीणों को राशन के लिए कतारें नहीं लगाना पड़ेंगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *