बदलता मध्यप्रदेश .. ग्वालियर में हिंदू महासभा ने खोली गांधी के हत्यारे के नाम पर गोडसे ज्ञानशाला


इंदौर। हिंदुस्तान बदल रहा है। आज़ादी के मायने बदल रहे हैं। इसे आप मध्यप्रदेश में भी महसूस कर सकते हैं। अब ग्वालियर में नाथूराम गोडसे की देशभक्ति के किस्से पढ़ाये जाएंगे। महात्मा गांधी की हत्या करने वाले नाथूराम गोडसे पर हिन्दू महासभा ने एक स्टडी सेंटर खोला है ।

हिन्दू महासभा की भाषा में ये स्टडी सेंटर अथवा ज्ञानशाला है। इसे ग्वालियर में खोला गया है। इस स्टडी सेंटर में हिन्दू महासभा नाथूराम गोडसे की देशभक्ति के किस्से लोगों को बताएगी। एक तरफ माफिया के खिलाफ शिवराज सरकार अभियान चला रही है, दूसरी तरफ एक अलग तरह का ज्ञान माफिया अपने पैर पसार रहा है। क्या शिवराज सरकार गोडसेवादी परंपरा पर कोई कार्रवाई करेगी या इस पर सहमति देगी।

हिन्दू महासभा ने ग्वालियर के दौलतगंज स्थित हिंदू महासभा के कार्यालय में गोडसे कार्यशाला शुरू की है। यहां पहले दिन हिंदू महासभा के पदाधिकारियों ने गोडसे सहित वीर सावरकर, रानी लक्ष्मीबाई और संघ से जुड़े अन्य पदाधिकारियों की तस्वीर की पूजा-अर्चना की और उन्हें श्रद्धासुमन अर्पित किए।

हिन्दू महासभा यहां अभी भी हर साल गोडसे का बलिदान दिवस और जन्मदिवस मनाती है। अब उसने गोडसे ज्ञानशाला ही शुरू कर दी है। हिंदू महासभा के डॉ जयवीर ने बताया कि युवा पीढ़ी को ये जानना चाहिए कि राष्ट्र को बचाने के लिये गोड़से के साथ-साथ सभी देशभक्तों ने किस प्रकार प्रतिकार किया है। इस ज्ञानशाला में हिन्दू महासभा गोडसे की जीवनी से जुड़े प्रसंग लोगों को बताएगी।

हिन्दू महासभा देश के बंटवारे का इतिहास भी लोगों को बताएगी और इससे लोगों को जागरुक करेगी। हिन्दू महासभा के अनुसार वह लोगों को वीर सावरकर, रानी लक्ष्मीबाई, राणा प्रताप के कदमों पर लोगों को चलने के लिए प्रेरित करेगी। बता दें कि 30 जनवरी 1948 को दिल्ली में नाथूराम गोडसे ने महात्मा गांधी की गोली मारकर हत्या कर दी थी।

 


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments