शिवभक्त कमलनाथ के दोस्त सलमान ने शिवलिंग पर ही रख दिया तखत !


सलमान खान ने विवाद के बाद सफाई में कहा- मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बोला था, इसलिए यहां आना पड़ा, वरना में तो उत्तरप्रदेश में शूटिंग करना चाहता था।
इससे पहले फिल्म के एक गाने में साधुओं को नर्मदा में डुबकी लगाते हुए फिल्माए जाने का भी विरोध हुआ
इंदौर (मध्यप्रदेश।
विवादों में रहना सलमान खान को सुहाता है। शायद वे इसका मजा लेते हैं। वे विवादों को खड़ा करते हैं या विवाद उन्हें ये समझना मुश्किल है। पर शिवभक्त राहुल गाँधी और प्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ के इस करीबी दोस्त ने शूटिंग के लिए महेश्वर के शिवलिंग के ऊपर ही तखत रख दिया।इसके बाद यूनिट के सदस्य उस तखत पर जूते लेकर भगवान के मस्तक पर खड़े रहे। इसके बाद फिर विवाद बड़ा तो सफाई देने आये फिल्म उद्योग के इस बिगड़ैल अभिनेता ने कहा-शिवलिंग खराबा न हो इसलिए तखत रख दिया था। वहीँ वे ये भी बोले कि कमलनाथ से दोस्ती के नाते वे यहां शूटिंग करने आये, वरना उनका कोई इरादा नहीं था। एक तरह से अभिनेता ने अहसान जताया। सलमान को ये समझना चाहिए कि महेश्वर उनका मोहताज़ नहीं है। यहाँ पहले भी कई फिल्मों की शूटिंग हो चुकी है। महेश्वर में सलमान खान की फिल्म दबंग-3 की शूटिंग तीसरे दिन भी विवादों से घिर गई। फिल्म के सेट पर शिवलिंग के ऊपर तखत रखा नजर आया। सोशल मीडिया पर यह फोटो वायरल होते ही इसका विरोध शुरू हो गया। मामले ने इतना तूल पकड़ा कि सलमान को सफाई देने आना पड़ा।

सलमान ने कहा- “शिवलिंग के ऊपर कंपनी के लोगों ने तखत इसलिए रख दिया होगा कि उसे कोई नुकसान नहीं हो। हालांकि, दोपहर में तखत हटा लिया गया।” सलमान ने कहा कि हमारा सेटअप उत्तरप्रदेश में लगने वाला था। दो महीने पहले मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा था कि आप इंदौर से हैं, इसलिए मप्र में फिल्म की शूटिंग करें। फिर महेश्वर का चयन किया।”

फिल्म की शुरुआत में महेश्वर का जिक्र आएगा। मेरे दादाजी यहां डीआईजी रहे हैं। अपना घर समझकर यहां आया हूं। मैं सोशल मीडिया पर पोस्ट नहीं करता, लेकिन महेश्वर का नाम हो, इसलिए लगातार फोटो-वीडियो पोस्ट कर रहा हूं। फिल्म के सेट पर साधु बने कलाकारों के सिगरेट पीने पर खान ने कहा- “सिगरेट वो पिए तो सलमान उसमें क्या करें।”

तीन दिन की शूटिंग में तीन विवाद…

2 अप्रैल: नर्मदा घाट पर झंडे लगाने के लिए लोहे के मोटे तारों से पुरातात्विक धरोहर को बांध दिए जाने से नुकसान का खतरा था, इसका लोगों ने विरोध किया।
3 अप्रैल: राजबाड़ा में देवी अहिल्या बाई की राजगादी और देव पूजा स्थल पर आने-जाने के दरवाजे बंद करना। इसके अलावा, महेश्वर में नर्मदा घाट पर साधु-संतों पर एक गाना फिल्माया जाना।
4 अप्रैल: शिवलिंग पर तख्त रखना।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments