भोपाल में अफसरों का खाना बनाने वाला रसोइया भी संक्रमित


मध्यप्रदेश में इंदौर में संक्रमण काबू हो रहा पर राजधानी में ये संख्या बढ़ रही है, बुधवार को 78 नए पॉजिटिव मिले, एक दिन में मरीजों की यह सर्वाधिक संख्या,

मध्यप्रदेश में कोरोना पॉजिटिव की संख्या बढ़कर दस हजार हो गई। प्रदेश के सबसे हॉट स्पॉट रेड जोन इंदौर में संक्रमण अब काबू में है, पर भोपाल में चिंता बढ़ रही है। राजधानी में तेजी से बढ़ रहे कोरोना संक्रमितों की संख्या ने जिला प्रशासन के साथ सरकार को भी चिंता में डाल दिया है। बुधवार को 78 नए संक्रमित मिले। यह अब तक एक दिन में मिलने वाले मरीजों की सर्वाधिक संख्या है। इनमें वह रसोइया भी शामिल है जो क्वारेंटाइन सेंटरों में तैनात अधिकारियों, कर्मचारियों के लिए खाना बना रहा था।

रसोइये के संक्रमित होने से प्रशासन में हड़कंप मच गया है। इसके अलावा नए संक्रमितों में से 22 एक ही मोहल्ले के सिख सिकलीगर समुदाय के लोग हैं, जो ताले आदि बेचने का काम करते हैं। अब भोपाल में कुल संक्रमित संख्या 2146 हो गई है। क्षेत्र में सब्जी बेचने वाले जरूर घूमते हैं, उनसे सामान खरीदने के दौरान ही सिकलीगर के संक्रमित होने की आशंका है ।

सिकलीगरों का कहना है कि वे लॉकडाउन के कहीं नहीं गए हैं। सभी 22 लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनके परिवार के 100 से अधिक सदस्यों को देर रात को क्वारेंटाइन सेंटर में शिफ्ट किया गया। राज्य पर्यटन निगम की होटल पलाश के असिस्टेंट मार्केटिंग मैनेजर के बाद रसोइया भी कोरोना संक्रमित निकला है।

यह रसोइया क्वारेंटाइन सेंटरों में रह रहे लोगों और लॉकडाउन में ड्यूटी कर रहे अधिकारी-कर्मचारियों के लिए खाना बनाता था। पलाश होटल में बीते दो सप्ताह में यह दूसरा संक्रमित मरीज निकला है, जबकि अन्य अधिकारी, कर्मचारी व खाना बनाने वाला स्टाफ निगेटिव आए हैं। प्रशासन ने पलाश होटल में खाना बनवाना बंद करा दिया है तथा पूरे होटल को सैनेटाइज कराया गया है।

 


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments