आडवाणी के शिष्य शिवराज को यात्रा का शौक !


भोपाल। राजनीति में कुछ नेताओं को यात्रा का शौक सा होता है। लालकृष्ण आडवाणी की रथ यात्रा के बाद तो यात्रा किसी भी नेता के मजबूत प्रोफाइल के लिए जरुरी से होती जा रही है। ऐसे में लालकृष्ण आडवाणी के करीबी शिष्य रहे शिवराज इससे कैसे बचते। नर्मदा यात्रा, आशीर्वाद यात्रा के बाद अब शिवराज फिर एक यात्रा के लिए तैयार है। ये हार के बाद की आभार यात्रा होगी।
मध्यप्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने आज स्पष्ट किया कि वे प्रदेश छोड़कर नहीं जाएंगे. उन्होंने कहा कि वे जल्द ही आभार यात्रा भी निकालेंगे. उन्होंने कहा कि वे लोकसभा चुनाव भी नहीं लड़ेंगे.चौहान आज भाजपा कार्यालय पहुंचे थे. यहां पर उन्होंने कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों से मुलाकात की. चौहान ने मीडिया से चर्चा करते हुए कहा कि वे अब प्रतिदिन भाजपा कार्यालय आया करेंगे. इस दौरान उनके लोकसभा चुनाव लड़ने को लेकर चल रही अटकलों पर उन्होंने कहा कि वे लोकसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. वे प्रदेश में ही रहेंगे. उन्होंने कहा कि मैं केन्द्र नहीं जाऊंगा, मेरा दिल एमपी में है, मैं यहीं पर जनता की सेवा करुंगा. चौहान ने कहा कि वे जल्द ही प्रदेश में आभार यात्रा निकालेंगे. इसके लिए वे राज्य के सभी जिलों में जाएंगे. उन्होंने कहा कि वे आभार यात्रा इसी महीने निकालेंगे, उनकी यह यात्रा रीवा से शुरु होगी.


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments