शिवराज सरकार के खिलाफ मोर्चा संभालेंगे हार्दिक पटेल


मध्यप्रदेश में 64 सीटों पर पाटीदारों का वर्चस्व, 25 सीटों
पर कांग्रेस के साथ मिलकर बीजेपी को टक्कर देंगे हार्दिक

इंदौर। गुजरात के पाटीदार नेता हार्दिक पटेल ने गुजरात के बाद अब मध्यप्रदेश में बीजेपी के खिलाफ चुनावी बिगुल फूंक दिया है। हार्दिक ने कहा कि वो अब अगले 6 महीने किसानों और युवाओं के तमाम मुद्दों को उठा रहे हैं। उनकी लडाई सत्ता में बैठे लोगो से है। हार्दिक कांग्रेस का नाम लिए बगैर कहा कि इस लडाई में जो भी अच्छे लोग साथ आएगें उनका हम समर्थन करेगें। इससे पहले हार्दिक कांग्रेस के ज्यातिरादित्य सिंधिया को सीएम पद का उम्मीद्वार बनाए जाने की वकालत कर चुके हैं। बताया जा रहा है कि हार्दिक ने कांग्रेस से मालवा-निमाड में पाटीदार उम्मीद्वारों को उतारने के लिए कांग्रेस से 25 सीटों की मांग की है।

अहमदाबाद लौटते वक्त रात्री विश्राम करने इंदौर में रुके हार्दिक ने पॉलिटिक्सवाला से विशेष बातचीत में बताया कि उनकी लडाई सरकार से है। हार्दिक ने यह साफ कर दिया कि मध्यप्रदेश के अगले चुनाव में वो कांग्रेस का साथ देगें। उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश में किसान, युवा, बेरोजगारी और व्यामप घोटवला जैसे बडे मुद्दे हैं इन मुद्दों पर चारों तरफ से सरकार को घेर कर भ्रष्ट सरकार को उखाड फेंकना ही हमारा मकसद है। हार्दिक ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को सीएम पद का उम्मीद्वार बनाने की वकालत जरुर की है लेकिन इसका मतलब यह नही कि कोई दूसरा अच्छा व्यक्ति आएगा तो उसे समर्थन नहीं करेगें। हार्दिक ने दो दिन पहले मंदसौर में पत्रकारवार्ता के दौरान सिंधिया को सीएम प्रत्याशी बनाए जाने की मांग की थी। लेकिन आज उन्होनें कहा कि सत्ता के खिलाफ लडाई लडने वाला जो भी अच्छा व्यक्ति आएगा उसे पूरा समर्थन देगें। चुनाव से पहले लगातार वो अपने संगठन के जरिए जनजागरण करेगें औऱ शिवराज के खिलाफ राजनीतिक लडाई लडेगें। हार्दिक ने कहा कि शिवराज सरकार किसान विरोधी सरकार है। मंदसौर में किसानों पर गोलियां चलवाई। ऐसी सरकार को किसान साथी अब उखाड फेकेंगें। हार्दिक पटेल बीते तीन दिनों से मध्यप्रदेश के दौरे पर हैं। किसान क्रांति सेना के बैनर तले हार्दिक कई जगह किसान क्रांति सम्मेल कर चुके हैं। इन सम्मेलनों में अच्छी खासी भीड से सरकार की जमीन हिल गई है।

गौरतलब है कि मालवा-निमाड पाटीदार बाहुल्य इलाका है। यहां कि 64 सीटों पर पाटीदारों का निर्णायक वोट बैंक है। इन 64 में से 25 सीटें ऐसी हैं जहां पाटीदार वोट ही चुनावी नतिजे तय करते हैं। विश्वस्त सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार हार्दिक ने कांग्रेस से 25 सीटें देने की मांग की है। इन 25 सीटों पर हार्दिक पाटीदार समाज के लोगों को खडा करना चाहते हैं। इनमें से ज्यादातर सीटें गुजरात से सटे मालवा-निमाड की है। हार्दिक का कांग्रेस से अघोषित गठबंधन होने के बाद चुनाव में गुजरात की तरह वे कांग्रेस को अप्रत्यक्ष रुप से सपोर्ट करेगें। इंदौर में भी आज कई कांग्रेसियों ने उनका स्वागत किया। कई कांग्रेसी नेता चुनाव में टिकट हांसिल करने के लिए हार्दिक का सहारा लेने की तैयारी में जुट गए हैं। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता रामेश्वर पटेल ने इंदौर के बिचौली मर्दाना में हार्दिक की मेजबानी की।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments