संजय गांधी की दोस्ती को इस तरह हरा रखेंगे कमलनाथ


कमलनाथ ने अपने दोस्त संजय गांधी की याद में शुरू किया पर्यावरण मिशन
5 करोड़ पौधे प्रति वर्ष लगाकर शुरू किया जाएगा मिशन
मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री कमलनाथ और संजय गांधी की दोस्ती किसी से छिपी नहीं है। नाथ के दफ्तर पर संजय की फोटो लगी है। अब प्रदेश सरकार उनको याद करने के लिए संजय गांधी पर्यावरण मिशन शुरू करने जा रही है, जिसमें पांच करोड़ पौधे हर बरस लगाए जाएंगे।
प्रदेश सरकार हर विभाग की मदद से इस मिशन में पौधे लगवाएगा। हालांकि इसके लिए अलग से कोई बजट पास नहीं किया गया है। विभाग को ही अपने हिस्से से ग्रीन प्लांटेशन के नाम पर कुछ राशि निकालना पड़ेगी, जिससे मिशन चलाया जा सके। प्रदेश सरकार के मुख्य सचिव आरएस मोहंती ने बुधवार को इस विषय पर बैठक ली, जिसमें आबोहवा के प्रभारी सचिन पंकज अग्रवाल भी मौजूद थे। बैठक में गोपाल रेड्डी, मलय श्रीवास्तव, मनु श्रीवास्तव, केसी गुप्ता, मनीष रस्तोगी की मौजूदगी में मुख्य सचिव ने कहा कि हमें सभी विभागों को सक्रिय करना होगा। ये मुख्यमंत्री का सपना है कि संजय गांधी के नाम पर प्रदेश को हरा-भरा किया जाए। साथ ही ये व्यवस्था भी जरूरी है कि नर्सरी से पौधे खरीदते वक्त उनका पैसा चुकाया जाए। जिला सरकार के एजेंडे में भी इसे डाला जाए। इसके लिए सभी जगह से मिला कर 172 करोड़ के कैंपा फंड का इस्तेमाल किया जा सकता है। मिशन के लिए जागरुकता लाना है तो सोशल मीडिया पर प्रचार जरूरी है। नगर निगम में तो जागरुकता का पैमाना ठीक है, लेकिन नगर पालिकाओं में हार्डी कल्चर लाना जरूरी है। रिवर बैंक के आसपास प्लांटेशन होने पर इंसेटिव भी दिया जाना चाहिए। इससे हमें कॉलेज और स्कूल के छात्रों को भी जोडऩा है, ताकि वो वृक्ष-मित्र बन कर पौधे लगा सकें। इसका सख्ती से पालन करने के लिए जब तक सभी छात्र पौधे लगाते हुए अपना फोटो न दें, तब तक उनकी डिग्री भी रोकी जा सकती है। जब मोहंती बोल रहे थे, तभी कुछ अधिकारियों ने प्रदेश में बढ़ रही पेड़ों की कटाई का मुद्दा उठा दिया। भोपाल और इंदौर के कई मुद्दों की जानकारी मोहंती को दी गई और कहा गया कि बगैर कलेक्टर की जानकारी के पेड़ काटे जा रहे हैं। इस पर भी रोक लगाई जाना चाहिए। मोहंती ने तुरंत अधिकारियों को कार्रवाई के लिए कहा, बोले कि मुख्यमंत्री कमलनाथ ने चार बरसों में संजय गांधी पर्यावरण मिशन में ढिलाई बरतने वाले अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश भी दिए हैं।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments