भोपाल में 20 जमाती पॉजिटिव, इंदौर में दस नेगेटिव


22 मार्च को निज़ामुद्दीन मरकज़ में शामिल होकर इंदौर आए थे ये जमाती

इंदौर, हिंदुस्तान में कोरोना संक्रमितों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हुई है, जिसकी वजह तबलिगी जमात के लोग बताए जा रहे हैं। हर राज्य और हर शहर में इनकी तलाश जारी है। इंदौर के लिए अच्छी खबर यह है कि बीते दिनों दिल्ली के निज़ामुद्दीन मरकज़ से लौटे जिन 25 जमातियों की पहचान की गई थी, उनमें से 10 की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। बाकी 15 लोग फरवरी के दूसरे सप्ताह में इंदौर आ चुके थे, इसीलिए उनमें संक्रमण की संभावना 5-7 प्रतिशत ही है।

सूचना के आधार पर 2 अप्रैल को चंदननगर पुलिस ने ग्रीन पार्क और चंदननगर क्षेत्र से 25 ऐसे लोगों को पकड़कर प्रशासन के हवाले किया था जो निज़ामुद्दीन मरकज़ में शामिल हो कर लौटे थे। प्रशासन ने इन्हें ताराकुंज गार्डन में आइसोशेन के लिए रखा था। इनके सैंपल लिए गए। जांच हुई। सभी की रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इस रिपोर्ट को देखकर न सिर्फ जिला प्रशासन बल्कि ग्रीन पार्क और रानी पैलेस के लोगों ने भी राहत की सांस ली है, जहां यह लोग ठहरे थे।

ग्रीन पार्क की उमर मस्जिद से मिले 10 जमाती वारंगल (तेलंगाना) के हैं। इनमें 5 पुरुष हैं, 5 महिलाएं। सभी स्वस्थ्य हैं। यह लोग 22 मार्च के पहले ही इंदौर आ गए थे। अपर कलेक्टर दिनेश जैन ने बताया कि इनकी टेंशन ज्यादा थी। नेगेटिव रिपोर्ट आना सुखद है। रानी पैलेस के मदरसे से मिले जमाती चूंकि 8-10 फरवरी को ही इंदौर आ गए थे। इसीलिए उनमें संक्रमण की संभावना कम है।

दोबंगालियों  की रिपोर्ट भी नेगेटिव

अभियान के दौरान पश्चिम बंगाल के दो मुस्लिम भी मिले थे। जिनकी रिपोर्ट नेगेटिव आई है। इनमें इस्लामपुरा के हबीब रहमान (44) और कोशांबी के कुर्बान (49) शामिल हैं।

मध्यप्रदेश के अन्य जमाती

– भोपाल में निजामुद्दीन मरकज से लौटे 20 जमाती कोरोना पॉजिटिव पाए गए।
– जिले की सिरोंज तहसील में असम से आए एक जमाती की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।
– छतरपुर सिटी कोतवाली की दो मस्जिदों में रह रहे 14 जमातियों की जांच हुई। 10 का टेम्परेचर सामान्य था। 4 का ज्यादा, जिन्हें आइसोलेट किया।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments