सीएम शिवराज ने मोबाइल से कर दिया सभा को संबोधित, देर रात हुआ बिना शोर का रोड शो


रात 10 बजे बाद देवास में रोड शो के लिए पहुंचे सीएम, सोनकच्छ की सभा को गाड़ी में सफर करते हुए मोबाइल से कर दिया संबोधित
दीपक विश्वकर्मा, देवास
चुनाव में नेताओं को क्या-क्या नहीं करना पड़ता इसकी एक बानगी शनिवार रात देखने को मिली। मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान को शनिवार शाम 6.30 बजे देवास पहुंचकर रोड शो करना था, लेकिन वे लगातार लेट होते गए और करीब 4 घंटे की देरी से रात करीब 10.30 बजे देवास पहुंचे। रोड शो की अनुमति का समय खत्म होने के चलते सीएम ने देवास में रोड शो तो किया, लेकिन बिना किसी शोर शराबे के। इसके पहले उन्होंने सोनकच्छ में होने वाली सभा को इंदौर के हातोद से देवास आने के बीच गाड़ी में बैठे-बैठे मोबाइल से ही संबोधित कर दिया और श्रोताओं से रात में ही सोनकच्छ पहुंचकर मिलने का वादा भी किया।
दरअसल देवास में शनिवार शाम मुख्यमंत्री शिवराजसिंह चैहान का रोड शो होना था। इसके बाद उन्हें सोनकच्छ में सभा को संबोधित करना था। इसके पहले पीथमपुर, बेटमा, देपालपुर और हातोद की सभाएं भी थी। शनिवार दोपहर से ही सीएम के सभी कार्यक्रम देरी से चल रहे थे, जिसे देखते हुए देवास में भी उनके देरी से आने के कयास लगाए जा रहे थे। हुआ भी वैसा ही और शाम 6 बजे से सीएम के आने के लिए पलक पावड़े बिछाकर बैठे कार्यकर्ताओं को करीब साढ़े चार घंटे इंतजार करना पड़ा। इस बीच रात 10 बज गई और रोड शो के लिए ली गई गाड़ी की अनुमति का समय भी खत्म हो गया। समय खत्म होने के बाद सीएम देवास तो पहुंचे, लेकिन इसके बाद उनको पैदल ही बिना किसी शोर के रोड शो करना पड़ा। इस दौरान हजारों की संख्या में भाजपा कार्यकर्ता देवास के सयाजी गेट से लेकर पूरे एमजी रोड और नाहर दरवाजा तक जमा हो गए थे।
मोबाइल पर सभा संबोधित की
पीथमपुर और देपालपुर में भाजपा प्रत्याशियों के समर्थन में सभा करने में शिवराजसिंह चैहान देवास के लिए काफी देरी कर चुके थे। सोनकच्छ में होने वाली सभा की भी यही स्थिति थी। इसको देखते हुए उन्होंने हातोद से रवाना होने के बाद गाड़ी में बैठे-बैठे मोबाइल काॅल से ही सभा को संबोधित कर दिया। सभी को उन्होने नाराज नहीं किया और यह वादा भी किया कि वे देवास से सीधे सोनकच्छ जरूर आएंगे। देवास में भी वे काफी देरी से पहुंचे, लेकिन यहां उन्होंने पैदल जाकर रोड शो और संपर्क किया।