गुड्डू की मनमानी से नाराज़ है सांवेर के कांग्रेसी?


 भाजपा से कांग्रेस में लौटे प्रेमचंद गुड्डू के सिर पर दिग्विजय का हाथ होने से वे छोटे कार्यकर्ताओं से संपर्क ही नहीं रखना चाहते, अपने गुरु की तरह  मेनेजमेंट से चुनाव जीतना चाहते हैं

 

अजय पौराणिक

वर्तमान सरकार के अस्तित्व का फैसला करने वाले उपचुनाव का केंद्र बिंदु बन चुके सांवेर विधानसभा क्षेत्र के खजूरिया व आसपास के गांवों के दर्जनों कांग्रेस कार्यकर्ता शुक्रवार को बड़े नेताओं की मौजूदगी में भाजपा में शामिल हो गये। जिला कांग्रेस के महामंत्री विजय पाठक व उनके समर्थक जल संसाधन मंत्री तुलसी सिलावट की एक सभा के दौरान भाजपा में शामिल हुए।

भाजपा जिलाध्यक्ष राजेश सोनकर ने सभी का पार्टी में स्वागत किया। इस दौरान मंत्री सिलावट ने आश्वस्त किया कि भाजपा में शामिल होने वाले सभी लोगों के सम्मान व जरूरतों का पूरा खयाल रखा जाएगा।

वैसे तो सियासी दलों के नेताओं और समर्थकों का दल बदल करना अब सामान्य बात है पर पाठक करीब तीस साल से छात्र जीवन से ही कांग्रेस से जुड़े थे और फिलहाल जिला कांग्रेस के मीडिया प्रभारी भी थे। पाठक जिला युवक कांग्रेस के संगठन मंत्री और किसान कांग्रेस के प्रदेश महासचिव की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी भी निभा चुके हैं।

पाठक ने प्रेमचन्द गुड्डू के अहंकारी रवैये और कांग्रेस जिलाध्यक्ष सदाशिव यादव की उनकी सलाहों के प्रति उदासीनता को पार्टी छोड़ने की मुख्य वजह बताया और कहा कि इतने महत्वपूर्ण उपचुनाव में भी कांग्रेस के प्रदेश नेतृत्व ने प्रत्याशी चयन के लिये ग्रामीण पदाधिकारियों से न तो राय-मशविरा किया और न कोई पर्यवेक्षक भेजे जिससे इस चुनाव में कांग्रेस को भारी नुकसान होगा।

गुड्डू ने पिछले चुनाव की जीत और अब कांग्रेस में वापसी के बावजूद कभी गांव के कार्यकर्ताओं से कोई सम्पर्क नहीं किया जबकि भाजपा पूरे जोरशोर से मतदाताओं को लुभाने में लगी है।

Related stories…

https://politicswala.com/2020/07/18/madhypradesh-congress-bjp-nepagar-jeetupatwari-shivrajsingh-digviajysingh/

इलाके के लोगों के मुताबिक प्रेमचंद गुड्डू का रुखा व्यवहार जमीनी कार्यकर्ताओं के कांग्रेस से पलायन की बड़ी वजह है। चूंकि कांग्रेस के वरिष्ठ नेता दिग्विजयसिंह गुड्डू को फिर कांग्रेस में लाये हैं, इसलिये वे छोटे लेकिन संगठन के लिये समर्पित ग्रामीण कार्यकर्ताओं और पदाधिकारियों को कुछ नहीं समझते।

गौरतलब है तुलसी सिलावट के भाजपा में जाने के बाद सैंकड़ों कांग्रेस कार्यकर्ता व समर्थक भाजपा में शामिल हो चुके हैं।जबकि सांवेर के ग्रामीण इलाकों में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल होने की कोई बड़ी जानकारी अब तक सामने नहीं आई है।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments