56 इंची सीने की ताल के आगे सब चित।


इंदौर। पुलवामा में आतंकी हमले के बाद विपक्ष के भीतर मोदी विरोधी उत्साह पैदा हुआ था। मंगलवार को भारतीय वायुसेना ने जिस ढंग से पाक पर हमला बोला  उसने विपक्ष को भी नेस्तनाबूत कर दिया। लोकसभा चुनाव के ठीक पहले सेना की इस कार्रवाई से प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के 56 इंची सीने को फिर ताकत मिली है। अब वे चुनाव अखाड़े में पूरे दमख़म से ताल ठोंक सकेंगे। पाक पर हुई कार्रवाई ने समूचे विपक्ष को फ़िलहाल चित कर दिया।
पाकिस्तान स्थित आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायु सेना की तरफ से की गई कार्रवाई पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी प्रतिक्रिया दी है. राजस्थान के चुरू में एक जनसभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा, ‘मैं आप सब को विश्वास दिलाता हूं कि देश आज सुरक्षित हाथों में है.’ वायु सेना की कार्रवाई को लेकर नरेंद्र मोदी ने यह भी कहा, ‘आज आप लोगों का मिजाज कुछ अलग ही जान पड़ रहा है. मैं आपका उत्साह समझ सकता हूं.’प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आगे कहा, ‘मैंने साल 2014 के चुनाव प्रचार के दौरान भी कहा था कि मैं देश को झुकने नहीं दूंगा. मैं आज फिर कहता हूं कि देश को झुकने और रुकने नहीं दूंगा. यह मेरा ‘भारत माता’ से वादा है.’ इसके साथ उन्होंने यह भी कहा, ‘मैं देश की सेवा और राष्ट्र निर्माण में लगे तमाम भारतवासियों और सशस्त्र बलों को नमन करता हूं.’ इस मौके पर उन्होंने सौगंध मुझे है इस मिट्टी की, मैं देश नहीं मिटने दूंगा… कविता की पंक्तियां भी पढ़ीं.

इसके अलावा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सेवानिवृत्त सैनिकों के लिए वन रैंक वन पेंशन योजना का जिक्र भी किया. उन्होंने यह भी कहा कि उनकी अगुवाई वाली सरकार ने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की शुरुआत कर दी है. इस योजना के जरिये राजस्थान के भी लाखों किसानों को लाभ पहुंचेगा. उन्होंने राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि उसने इस योजना के संभावित लाभार्थी किसानों की कोई सूची अब तक केंद्र के पास नहीं भेजी है.

इससे पहले मंगलवार तड़के करीब साढ़े तीन बजे भारतीय वायुसेना के मिराज – 2000 लड़ाकू विमानों ने पाकिस्तान के बालाकोट में आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) के ट्रेनिंग कैंप को निशाना बनाया था. खबरों के मुताबिक वायुसेना की इस स्ट्राइक में जेईएम के सैकड़ों आ​तंकियों सहित इसका एक कमांडर यूसुफ अजहर भी मारा गया है. यूसुफ अजहर जेईएम के सरगना मसूद अजहर का साला था. वह 1999 में इंडियन एयरलाइंस के यात्री विमान आईसी-814 के अपहरण में भी शामिल रहा था.


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments