पुलिस अधिकारी ने राष्ट्रपति से कहा कि अच्छी बात नहीं कर सकते तो चुप रहिये


 

एक शख्स की पुलिस हिरासत में मौत के बाद पूरे अमेरिका में उबाल है। सड़कों पर प्रदर्शन चल रहे हैं। आलम यह है कि राजधानी वाशिंगटन सहित देश के कई बड़े शहरों में रात का कर्फ्यू लगा हुआ है। इस बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा है कि अगर राज्यों के गवर्नर हालात पर काबू पाने में नाकाम रहे तो सेना उतारकर शांति स्थापित की जायेगी। ट्रंप ने प्रदर्शनकारियों को को आतंकवादी भी कहा है.

ट्रम्प के इस बयान पर हयूस्टन के पुलिस प्रमुख ने जो जवाब दिया वो बहुत सुर्ख़ियों में है। अमेरिका के एक प्रमुख शहर ह्यूस्टन की पुलिस के मुखिया आर्ट असेवेदो का एक बयान भी सुर्खियों में आ गया है। एक न्यूज़ चैनल से बातचीत में उन्होंने डोनाल्ड ट्रंप को चुप रहने की नसीहत दी है।

आर्ट असेवेदो का कहना था, ‘मैं अमेरिका के पुलिस प्रमुखों की तरफ से अमेरिका के राष्ट्रपति से कहना चाहता हूं कि अगर आप कोई ढंग की बात नहीं कर सकते तो मुंह बंद रखिए। उन्होंने आगे कहा कि पुलिस का काम लोगों पर हुकूमत और डर पैदा करना नहीं है बल्कि उनके दिल को जीतना है। डोनाल्ड ट्रंप जो कह रहे हैं उससे लोगों की जान जोखिम में पड़ रही है।

आर्ट असेवेदो एक लोकप्रिय पुलिस अधिकारी है। वे ह्यूस्टन में हो रहे विरोध प्रदर्शनों के दौरान खुद लोगों के साथ चल रहे हैं और उन्हें समझा रहे हैं कि वे हिंसा से बचें। लोग उनका खूब समर्थन करते भी दिख रहे हैं.

मालूम हो कि अमेरिका में हालात एक वीडियो क्लिप के वायरल होने के बाद बिगड़ने शुरू हुए। इसमें एक पुलिस अधिकारी जॉर्ज फ्लॉयड नाम के एक निहत्थे और अश्वेत व्यक्ति की गर्दन पर घुटना टेककर उसे दबाता दिखता है।

इसके कुछ ही मिनटों बाद 46 साल के जॉर्ज फ्लॉयड की मौत हो गई। यह घटना 22 मई को मिनेपॉलिस में हुई थी। इसके बाद से अमेरिका के सभी बड़े शहरों में हिंसा और विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं। हालात कितने खराब हैं इसका अंदाजा इससे भी लगाया जा सकता है कि सोमवार को जब डोनाल्ड ट्रंप मीडिया से बातचीत कर रहे थे तो उसी दौरान व्हाइट हाउस के पास जमा प्रदर्शनकारियों पर पुलिस आंसूगैस छोड़ रही थी। बिगड़ते सुरक्षा हालात को देखते हुए बीते शुक्रवार को राष्ट्रपति को कुछ समय के लिए एक भूमिगत बंकर में भी ले जाना पड़ा था.


1 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments