राजसी ठाठ, शाही रथ पर सवार जन आशीर्वाद यात्रा !


किसान मुख्यमंत्री शिवराज की चुनावी यात्रा उज्जैन से शुरू, लाखों के कर्ज में डूबी सरकार ने लगाया पांच करोड़ का पंडाल, 

उज्जैन। सुसाशन, स्वदेशी, गरीब, आम आदमी की सरकार और किसान मुख्यमंत्री के नारों वाली बीजेपी अब बदलती दिख रही है. काडर से कॉर्पोरेट। इसका सीधा दर्शन हुआ शिवराज की जन आशीर्वाद यात्रा में. यात्रा में अपनी उपलब्धियां गिनाने निकले शिवराज विदेशी वाहन पर रथ पर सवार थे, तो मंच पर नेताओं को कहीं पसीना ना आ जाये इसलिए एसी ब्लोअरजनता लगाये गये थे.
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की ‘जन आशीर्वाद यात्रा’ की शुरुआत शनिवार को उज्जैन से हुई। बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने हरी झंडी दिखाकर मुख्यमंत्री के रथ को रवाना किया। उज्जैन में यात्रा की शुरूआत और शाह के इस कार्यक्रम के लिए कार्पोरेट कल्चर की पांच सितारा व्यवस्थाएं जुटाई थीं। करीब 5 करोड की लागत से पांच बडे-बडे वाटर प्रुफ डोम तैयार किए गए। मंच को वातनुकूलित बनाने के लिए एसी के 8 बडे ब्लोअर लगाए गए थे। खुद को किसान पुत्र के नाम से प्रचारित करने वाले मुख्यमंत्र शिवराज सिंह चौहान 55 दिनों तक जिस रथ पर सवार होकर 230 विधानसभाओं में यात्रा करेंगे यह अत्याधुनिक तकनीक से तैयार किया गया है। रथ कि लागत करीब सवा दो करोड रुपए हैं।

यात्रा की शुरुआत से पहले अमित शाह और शिवराज सिंह ने महाकाल मंदिर जाकर पूजा-अर्चना की। इस मौके पर अमित शाह की रैली के लिए पार्टी ने करोडों रुपए फूंक दिए। यह कार्यक्रम पूरी तरह से राजनीतिक था लेकिन इसमें सरकारी धन का दुरुपयोग भी जमकर किया गया। गैरकानूनी तरीके से भीड को लाने ले जाने के लिए बसों को अधिगृहित किया गया। उज्जैन में कई स्कूलों में बच्चों की छुट्‌टी कर दी गई। पालकों को पहले स्कूल से सरकार द्वारा बसों के अधीगृहण का बल्क मैसेज भेजा गया लेकिन थोडी ही देर में तुंरत गलती सुधान कर सफाई दी गई कि बसों का अधिगृहण निरस्त कर दिया गया है। बावजूद इसके कई स्कूलों की छुट्‌टी रखी गई। यात्रा दूसरे दिन बड़नगर से शुरू होकर बदनावर होते रतलाम पहुंचेगी।

यात्रा की शुरुआत से पहले भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह और सीएम शिवराज सिंह सभास्थल नानाखेड़ा पहुंचे और उन्होने एक सभा को सम्बोधित किया। अपने भाषण में मुख्यमंत्री ने दिग्विजय के कार्यकाल और कांग्रेस की नीतियों को जमकर कोसा और जनता को भाजपा को ही चुनने की अपील की। शिवराज ने कहा कांग्रेस और हमारी भाजपा सरकार में फर्क है। अब महिला सुरक्षा के साथ उन्हें स्थानीय निकायों और सरकारी सेवा में आरक्षण दिया और बच्चियों से दुष्कर्म के अपराधियों को फांसी की सजा का प्रावधान बनाने वाले विधेयक विधानसभा में सबसे पहले पारित किया।

हमारी और कांग्रेस की सोच में फर्क है

सीएम ने कहा कांग्रेस के मित्रों तुम्हारे राज में गरीब दर-दर की ठोकरें खाता था, लेकिन मोदी और शिवराज के राज में किसी गरीब को भटकने नहीं दिया जायेगा। हर गरीब के सिर पर पक्की छत होगी गुलाम मानसिकता के लोग क्या भारत को आगे लाने की कोशिश करेंगे? हमारी सोच और उनकी सोच में अंतर है। मासूम बेटियों के साथ दुराचार करने वाले नरपिशाचों को फांसी की सज़ा दिलाने का कानून हम लाए। बहनों बेटियों के कल्याण के लिए हमने अनेकों फैसले लिए।

जन आशीर्वाद यात्रा लग रही विजय यात्रा- अमित शाह

अमित शाह ने कहा जनशीर्वाद यात्रा में भारी भीड से लग रहा है कि यह यात्रा विजय यात्रा है। यह बीजेपी में ही संभव है कि कोई सीएम तीन बार बनने के बाद भी जनता के बीच मे हिसाब देने जाए। कांग्रेस नेताओं को एमपी में सरकार बनाने के सपने आते हैं। दो महाराजा और एक धनपति सरकार नही बना सकते। एमपी में फिर किसान पुत्र शिवराज ही सरकार बनाएंगे।

 

 


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments