सचिन पायलट ने फिर गेहलोत को घेरा !


 

सरकार से हटते ही पायलट को याद आई गुर्जरों की, कांग्रेस सरकार में
गुर्जरों के आरक्षण का लाभ न मिलने और इस पर काम की लिखी चिट्ठी

 

जयपुर। सरकार और संगठन से बाहर आते ही पूर्व उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट अब गुर्जर समुदाय के हितों के लिए मुखर हो गए है। अति पिछडा वर्ग (एमबीसी) में शामिल गुर्जर सहित पांच अति पिछडी जातियों को सरकारी भर्तियों में आरक्षण का लाभ नहीं दिए जाने के मामले में उन्होंने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है और यह लाभ देने की मांग की है।

सचिन पायलट जब तक सरकार में उपमुख्यमंत्री और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष थे तब तक गुर्जर समुदाय की मांगों को लेकर कभी खुल कर बोलते नहीं देखे गए थे। लेकिन अब सरकार और संगठन से बाहर होने के बाद उनके साथ पद से जुडी कोई मजबूरियां नहीं रही हैं। ऐसे में अब वे इस मामले पर मुखर होते दिख रहे हैं। गुर्जर समुदाय के नेता लम्बे समय से सरकारी भर्तियों में वादे के अनुसार पांच प्रतिशत आरक्षण का लाभ नहीं मिलने की शिकायत कर रहे हैं।

ऐसे में अब पायलट ने इस मामले में सीधे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखा है। पत्र में आरक्षण के अलावा देवनारायण योजना के काम ठप होने की बात भी कही गई है और कहा गया है कि इन बिन्दुओं के सम्बन्ध में हमने घोषणा पत्र में वादे किए थे। पायलट ने कहा है कि समय-समय पर लोग व्यक्तिगत रूप से मिलकर इन दोनों योजनाओं को बजट देकर उचित ढंग से क्रियान्वित की पुरजोर मांग करते हैं. ऐसे में राज्य सरकार को चाहिए की इन मांगों को पूरा करें।

यह लिखा है पत्र में-
पायलट ने अपने पत्र में लिखा है कि कांग्रेस पार्टी के विधानसभा चुनाव के 2018 के घोषणा पत्र में एमबीसी आरक्षण का वादा किया था। इसके साथ ही साल 2011 में कांग्रेस सरकार के समय ही यह समझौता हुआ था कि 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद (छाया पद) एसबीसी के लिए सुरक्षित रखे जाएंगे। वर्तमान कांग्रेस सरकार और एसबीसी के प्रतिनिधियों के बीच फरवरी 2019 में हुए समझौते के अनुसार एसबीसी के लिए 4 प्रतिशत पद और प्रक्रियाधीन भर्तियों में 4 प्रतिशत अतिरिक्त पद स्वीकृत करने के आदेश जारी होने के बाद भी इक्का-दुक्का भर्तियों को छोड़कर शेष भर्तियों में पूरा 5 प्रतिशत आरक्षण नहीं दिया जा रहा है।

मुझे जो प्रतिवेदन मिले हैं उनके अनुसार पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018, रीट भर्ती 2018, पंचायत राज एलडीसी भर्ती 2013, टेक्निकल हेल्पर भर्ती 2018, नर्सिंग भर्ती 2013 और 2018, जेल प्रहरी भर्ती 2018, आशा सुपरवाइजर भर्ती 2016, कमर्शियल असिस्टेंट भर्ती 2018 ,द्वितीय श्रेणी शिक्षक भर्ती 2018 में यह पद नहीं रखे गए। इसके अलावा देवनारायण बोर्ड में देवनारायण योजना के अंतर्गत आने वाले विकास काम भी लगभग ठप पड़े हैं जो बहुत पीडादायक है। मेरा आपसे अनुरोध है कि उक्त बिन्दुओं पर शीघ्र कार्रवाई करें।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments