नरोत्तम से आलाकमान नाराज़, गृह मंत्री पद भी जाएगा !


 

‘मास्क’ के शेर नरोत्तम आज मास्क में मुंह छिपा रहे क्यों ?

नरोत्तम मिश्रा को लेकर भाजपा नेतृत्व नाराज है। प्रधानमंत्री तक ये सन्देश भेजा गया है कि बड़ी कार्रवाई जरुरी है। नरोत्तम पर कार्रवाई कर भाजपा देश में ये सन्देश भी देना चाहती है कि वो कोरोना को लेकर गंभीर है। क्या भाजपा की अंदरूनी खीचतान में सिंधिया और शिवराज भी इसे एक मौके के तौर पर देख रहे है ?

पंकज मुकाती (राजनीतिक विश्लेषक )

इंदौर। मध्यप्रदेश के गृहमंत्री नरोत्तम मिश्रा आज शीर्षासन मुद्रा में आ गए। बुधवार सुबह इंदौर में सीना ठोंककर बोले-मैं मास्क नहीं लगाता। रात को सफाई देने भी अपने ठेठ अंदाज़ में बिना मास्क के आये और बोले मुझे पॉलीपस (सांस की बीमारी ) है, इस कारण मास्क नहीं लगाता। पर गुरुवार सुबह बेहद संजीदा होकर मास्क लगाकर बोले गलती हुई मास्क जरुरी है।

सूत्रों के मुताबिक भाजपा नरोत्तम से गृह मंत्री पद लेकर पूरे देश में ये सन्देश देना चाहती है कि वो इस समय कोरोना पर कितनी गंभीर है। प्रदेश भाजपा के शिवराज सिंह चौहान और ज्योतिरादित्य सिंधिया खेमे के नेता भी नरोत्तम पर कड़ी कार्रवाई के लिए दबाव बना रहे हैं।

दरअसल, नरोत्तम और शिवराज में वैसे भी कुछ ठीक नहीं चल रहा है। दोनों एक साथ मंच भी साझा नहीं कर रहे हैं। इंदौर में भी सुबह नरोत्तम मौजूद भी शाम को एक कार्यक्रम में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान आये। आम तौर पर एक ही शहर में दो आयोजन एक ही दिन में हो तो नेता एक साथ ही मौजूद रहते हैं।

Must see …

 

इधर सिंधिया भी ग्वालियर-चम्बल में केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के साथ अपनी जमावट को मजबूत कर रहे हैं। वे भी नरोत्तम को उस इलाके में नहीं चाहते। इसके अलावा नरोत्तम खुद भी दोनों गुट से अलग दिखाई दे रहे है।

दरअसल, मास्क न लगाने के चलते नरोत्तम मिश्रा ट्रोल तो हुए ही उनकी नेतागीरी भी संक्रमित हो गई। भोपाल से दिल्ली तक संगठन के बड़े नेता मिश्रा के लापरवाह बयान से नाराज हुए। गृहमंत्री जिस पर प्रदेश की सुरक्षा का जिम्मा है, वो इतना लापरवाह? इस तरह की प्रतिक्रिया दिल्ली तक उठी। इसके बाद आलाकमान ने मंत्री की जमकर खिचाई की।

सूत्रों के मुताबिक़ ये मामला प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक पहुंचा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को बताया गया कि ये कोरोना काल में गंभीर लापरवाही है, और ऐसे लोगों पर बड़ी कार्रवाई करके भाजपा को कड़ा सन्देश देना चाहिए। बहुत संभव है, नरोत्तम से गृह मंत्रालय ले लिया जाए।

नरोत्तम को प्रधानमंत्री कार्यालय से भी फटकार मिली है इसकी पुष्टि उनके माफ़ीनामे में भी साफ़ दिख रही है। वे कह रहे हैं-प्रधानमंत्री की मंशा के अनुरूप सबको मास्क पहनना चाहिए। मुझसे गलती हुई।

कैलाश विजयवर्गीय के वीडियो की टाइमिंग भी जोरदार

मध्यप्रदेश के बड़े नेता और भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय का कल देर रात आया वीडियो भी बड़े बदलाव का इशारा कर रहा है। विजयवर्गीय जो पश्चिम बंगाल के प्रभारी है, ने बुधवार रात को एक वीडियो जारी किया। इसमें उन्होंने इंदौर को बचाने और लापरवाही से बचने की सलाह
भी दी। इसकी टाइमिंग वे है जब नरोत्तम मिश्रा खुद के मास्क न पहनने की वजह बता रहे थे। विजयवर्गीय ने इसके जरिये आलाकमान तक ये सन्देश भी दे दिया कि नरोत्तम का रवैया गैर जिम्मेदार है।

इलायची... नरोत्तम मिश्रा भोपाल के पत्रकारों के बीच बड़े यारबाज मंत्री के तौर पर चर्चित हैं। मिश्रा को पॉलीपस के कारण मास्क न लगाने का विचार देने वाले कुछ पत्रकार अब ये बताने में लगे हैं कि मिश्रा ने खुद गलती मानी और माफीनामा वायरल किया ये साहस का काम है। मंत्री जी को इस साहस के लिए शाबाशी मिलने चाहिए।

 


3.8 5 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments