कोलकाता निकाय चुनाव में 134 सीटें जीती TMC
Top Banner देश

कोलकाता निकाय चुनाव में 134 सीटें जीती TMC

-भाजपा 3 पर ही सिमटी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल में ममता बनर्जी का जलवा अब भी कायम है। कोलकाता नगर निगम की 144 सीटों पर हुए चुनाव के नतीजे यही कहते हैं।

नगर निकाय में क्लीन स्वीप करते हुए तृणमूल कांग्रेस ने 134 सीटों पर कब्जा जमाया है। यही नहीं तीन वॉर्डों में जीत हासिल करने वाले निर्दलीय उम्मीदवारों ने भी टीएमसी से जुड़ने की इच्छा जताई है। इस तरह कोलकाता निकाय चुनाव की 137 सीटों पर तृणमूल कांग्रेस का परचम लहराने वाला है।

ये नतीजे भाजपा के लिए बड़ा झटका है, जिसे महज तीन सीटों पर ही जीत मिल सकी है। इसके अलावा कांग्रेस और सीपीएम का हाल तो निर्दलीय उम्मीदवारों से भी बुरा रहा है। दोनों दलों को 2-2 सीटों पर ही जीत मिल सकी है।

कोलकाता निकाय चुनाव में भाजपा बढ़ने की बजाय और सिमट गई है। 5 साल पहले उसने यहां 5 सीटों पर जीत हासिल की थी, लेकिन इस बार दो और गंवा दीं।

इस बीच वॉर्ड नंबर 135 से जीत हासिल करने वालीं रूबीना नाज ने भी टीएमसी से जुड़ने का फैसला लिया है। उनके पति भी तृणमूल कांग्रेस के नेता हैं।

इसके अलावा दो अन्य निर्दलीय विजेता पुरबासा नास्कर और आएशा कनीज ने भी तृणमूल के साथ जाने का फैसला लिया है। तृणमूल के नेता रहे इरफान अली ताज की पत्नी कनीज ने कहा, ‘यदि हम सत्ताधारी दल के साथ रहेंगे तो फिर अपने इलाके के लोगों के लिए और ज्यादा काम कर सकेंगे।’

इस बीच कयास लगाए जा रहे हैं कि परिवहन मंत्री और कोलकाता के पूर्व मेयर फिरहाद हाकिम एक बार फिर से शहर का नेतृत्व कर सकते हैं।

हालांकि ममता बनर्जी की ओर से उन्हें मेयर बनाए जाने को लेकर कोई टिप्पणी नहीं की गई है। वॉर्ड नंबर 82 से लगातार चौथी बार फिरहाद हाकिम ने जीत हासिल की है।

कोलकाता निकाय चुनाव के नतीजों के तुरंत बाद ममता बनर्जी त्रिपुरा रवाना हो गईं। इससे पहले उन्होंने कहा कि हमारी पार्टी की 23 दिसंबर को दोपहर 2 बजे कोलकाता में मीटिंग होगी। इसमें हम शहर के नए मेयर का फैसला लेंगे।

2015 के आंकड़े : पिछली बार के मुकाबले के नतीजे अगर हम देखें तो 2015 में कोलकाता नगर निगम चुनाव में सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस को 144 में से 114 वार्ड पर जीत मिली थी। दूसरा स्थान मार्क्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को मिला था। जहां माकपा को 2010 की 33 सीटों के मुकाबले 2015 में केवल 15 सीटों पर ही सफलता हासिल हुई थी।

Leave feedback about this

  • Quality
  • Price
  • Service

PROS

+
Add Field

CONS

+
Add Field
Choose Image
Choose Video

X