कमल पटेल ने कमलनाथ के किसान क़र्ज़ माफ़ी के दावे को झूठा बताया


 

शिवराज सरकार में कृषि मंत्री कमल पटेल इस बार बेहद आक्रामक हैं, वे प्रतिदिन किसानों से जुड़े मुद्दे उठा रहे हैं,

भोपाल । शिवराज सरकार में कृषि मंत्री कमल पटेल सबसे सक्रिय दिखाई दे रहे हैं। वे कांग्रेस पर आक्रामक भी हैं। गुरुवार को पटेल ने पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ पर तीखा प्रहार किया।

कमलनाथ के किसानों की क़र्ज़ माफ़ी के दावे और वादों को झूठा बताया। पटेल ने कहा कि कमलनाथ झूठ के सहारे फिर सरकार बनाने के सपने देख रहे हैं। पर  प्रदेश की जनता उनके झांसे में आने वाली नहीं है। इससे पहले कमलनाथ ने एक पैन ड्राइव मीडिया को सौंपते हुए कहा था कि हमने 26 लाख किसानों के क़र्ज़ माफ़ किये। ये रही इसकी पूरी जानकारी।

कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री पटेल ने कमलनाथ के बयान को खिसियानी बिल्ली खंबा नोचे वाला बताया। पटेल ने कहा कि वास्तविकता यह है कि कांग्रेस और कमलनाथ ने प्रदेश के किसानों, गरीबों, बेरोजगारों और युवाओं को धोखा दिया है। पंद्रह महीने सरकार में रहने के बाद भी किसानों का कर्ज माफ नहीं कर सके जिससे वह डिफॉल्टर हो गये।

Related stories 

https://politicswala.com/2020/08/27/kisankarjmaafi-kamalnaath-shivraj-bjp-congress-madhyapradesh/

पटेल ने कहा कि कांग्रेस ने युवाओं को बेरोजगारी भत्ता देने का वादा भी पूरा नहीं किया। संवेदनशील मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की संबल योजना को बंद कर दिया जिससे जन्म से लेकर मृत्यु तक मिलने वाली आर्थिक सहायता नहीं मिल सकी।

कमल पटेल ने सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि उन्होंने कमलनाथ द्वारा की गई धोखाधड़ी के खिलाफ अपनी अंतरआत्मा की आवाज सुनी और अपने समर्थक मंत्रियों और विधायकों के साथ भाजपा में शामिल हो गए।

पटेल न कही कि सिंधिया के कारण प्रदेश में सत्ता परिवर्तन हो सका। इस परिवर्तन से र गरीब किसानों, युवाओं, बुजुर्गों को फिर सम्मान के साथ जीवनयापन के लिए अवसर मिलना शुरू हो गया। पटेल ने कहा कि अतिवृष्टि के चलते फसलों को हुए नुकसान का आकलन करने वह खुद निकल चुके हैं।


0 0 vote
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments