पाकिस्तान के करतारपुर पहुंचे सिद्धू ने इमरान खान को बताया ‘बड़ा भाई’

– BJP बोली- ये हिंदुस्तानियों के लिए चिंता का विषय

नई दिल्ली। पंजाब प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू शनिवार को पाकिस्तान के करतारपुर स्थित गुरुद्वारा दरबार साहिब के दर्शन करने के लिए गुरदासपुर के डेरा बाबा नानक स्थित करतारपुर कारिडोर के एकीकृत चेक पोस्ट पर पहुंचे।

करतारपुर पहुंचे सिद्धू का गर्मजोशी से स्वागत हुआ। उन पर पुष्प वर्षा हुई। हालांकि, इस दौरान उन्होंने कुछ ऐसा कहा, जिससे माहौल गर्म हो गया है।

दरअसल, सिद्धू ने उनके स्वागत में आए लोगों से बातचीत के दौरान पाकिस्तान के पीएम इमरान खान को अपना बड़ा भाई बता दिया।

नवजोत सिंह सिद्धू ने श्रीकरतारपुर साहिब गुरुद्वारा पहुंचकर दर्शन किए। वहीं, सिद्धू का एक वीडियो भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता अमित मालवीय ने ट्वीट किया।इसमें वे इमरान खान के बारे में हो रही बात के बाद यह कहते हुए दिख रहे हैं, ‘मेरा बड़ा भाई है और उसने मुझे बहुत प्यार दिया है।’

इस पर भाजपा हमलावर है और सिद्धू को अब के व पिछले पाकिस्तान के दौरे को लेकर घेर रही है।

मालवीय कहते हैं, ‘राहुल गांधी के चहेते नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान को अपना ‘बड़ा भाई’ कहते हैं।

पिछली बार उन्होंने पाकिस्तानी सेना के प्रमुख जनरल बाजवा को गले लगाया था, उनकी जमकर तारीफ की थी। उन्होंने कहा कि क्या यह कोई आश्चर्य की बात है कि गांधी भाई-बहनों ने अनुभवी अमरिंदर सिंह को छोड़ सिद्धू को चुना, जो पाकिस्तान से प्यार करता है?

वहीं, भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा ने प्रेस कान्फ्रेंस कर नवजोत सिंह सिद्धू के मसले पर कांग्रेस को घेरा है। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस के दिग्गज नेता और पंजाब कांग्रेस के अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू पाकिस्तान जाएं और इमरान खान का महिमामंडन न करें, पाकिस्तान की स्तुति न करें, ऐसा हो नहीं सकता।’

वे बोले, ‘आज सिद्धू ने इमरान खान को ‘बड़ा भाई’ कहकर संबोधित किया और कहा कि मैं उन्हें बहुत प्यार करता हूं। ये करोड़ों हिंदुस्तानियों के लिए चिंता का विषय है।’

पात्रा ने आगे कहा कि कांग्रेस पार्टी का ये एक प्रकार का तरीका है। सलमान खर्शीद, मणिशंकर अय्यर, राशिद अल्वी और इन सबके ऊपर राहुल गांधी, ये सभी हिंदू और हिंदुत्व को गाली देते हैं। वहीं सिद्धू पाकिस्तान के हित में बयान देते हैं। ये कोई इत्तेफाकन नहीं है।

भाजपा नेता ने पूछा : ये रिश्ता क्या कहलाता है : भाजपा नेता हरजीत ग्रेवाल ने कहा कि जब वे प्रदेश प्रधान अश्वनी शर्मा के साथ गए तो हमें कोई लेने नहीं आया। इससे समझ आता है कि सिद्धू के रिश्तों में इतनी गर्माहट क्यों है। कांग्रेस के पाक से रिश्ते जगजाहिर हो रहे हैं कि पाकिस्तान से उनकी इतनी नजदीकियां क्यों हैं?। उन्होंने कहा कि अगर सिद्धू के मन में श्री गुरूनानक देव जी के लिए श्रद्धा और खालसा पंथ के लिए सत्कार है तो वे दंगों के आरोपी जगदीश टाइटलर और कमलनाथ को हटाने की मांग क्यों नहीं करते।

पहले भी सामने आई नजदीकियां : सिद्धू की पाक पीएम इमरान खान से नजदीकी पहली बार नहीं है। इससे पहले वे इमरान खान के शपथ ग्रहण समारोह में भी पहुंच गए थे। वहां पर उन्होंने पाक आर्मी चीफ कमर बाजवा को गले लगा लिया था। इसके बाद वे करतारपुर कॉरिडोर खोलने को लेकर पाकिस्तान में हुए कार्यक्रम में भी हिस्सा लेने गए था। हालांकि सिद्धू ग्रुप इसे क्रिकेट से जोड़ता है कि दोनों ने एक साथ क्रिकेट खेली, इसलिए इस रिश्ते को राजनीतिक या भारत-पाक के बीच के तल्ख रिश्तों से जोड़कर नहीं देखा जाना चाहिए।

पाकिस्तान सिद्धू को देता है क्रेडिट :करतारपुर कॉरिडोर को लेकर पाकिस्तान हमेशा सिद्धू को क्रेडिट देता रहा है। हाल ही में कॉरिडोर खुला तो पाक सरकार की वेबसाइट में कहा गया कि सिद्धू ने ही पाक PM इमरान खान को कॉरिडोर खोलने का आइडिया दिया था, जिसके बाद यह संभव हो सका।

About The Author

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *