नीतीश सीएम रहेंगे पर 36 मंत्रियों के विभागों को लेकर भाजपा और जद यू के बीच दिखेगा 36 का आंकड़ा, उपमुख्यमंत्री भी बदलेगी भाजपा


 

पटना। बिहार में एनडीए सरकार के लिए फार्मूला आज तय होगा। कम सीटें हासिल करने के बावजूद नीतीश कुमार मुख्यमंत्री रहेंगे। ये संकेत भाजपा ने दे दिए हैं। सारा मामला भाजपा की तरफ से उप मुख्यमंत्री कौन होगा इस पर चल रहा है। रविवार को भाजपा विधानमंडल दल की बैठ बुलाई गई है, जिसमें रक्षामंत्री राजनाथ सिंह शामिल होंगे। इस बैठक में भाजपा नेता चुना जाएगा। बताया जा रहा है कि विधानमंडल दल का जो नेता होगा, वही बिहार का अगला मुख्यमंत्री होगा।
जनता दल यू की सीटें भाजपा से कम होने के कारण दोनों के बीच मंत्रिमंडल में बड़े विभागों को लेकर 36 का आंकड़ा बन सकता है। कुल 36 मंत्री इस सरकार में बनने हैं। भाजपा ने कम सीटों के बावजूद नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाने पर सहमति दे दी है पर मंत्रिमंडल में बड़े पद अपने पास रखकर वो सत्ता पर अपनी मजबूत पकड़ रखना चाहेगी। नीतीश कुमार को ऐसे में कई दिक्कतों का सामना करना पड़ सकता है।

किन नामों पर लगेगी मुहर- भाजपा विधानमंडल दल की बैठक में ही उपमुख्यमंत्री को लेकर फैसला होगा. सबकी नजर वर्तमान में उप मुख्यमंत्री सुशील मोदी की ओर है। कहा जा रहा है कि मोदी इस बार उप मुख्यमंत्री नहीं बनाया जा रहा है। भाजपा प्रदेश में नए चेहरों को आगे लाना चाहती है। वहीं बीते दिनों मीडिया की ओर से कामेश्वर चौपाल का भी नाम सामने आया. चौपाल भी विधानपरिषद के सदस्य हैं।

मंत्रिमंडल में भी रहेंगे नए चेहरे

कुल 36 मंत्री इस सरकार में रहेंगे। चूंकि जनता दल यू की भाजपा से 22 सीटें कम हैं, इसलिए भाजपा के मंत्रियों के संख्या ज्यादा रहेगी। प्रमुख पदों पर भी भाजपा की दावेदारी रहेगी। भाजपा केंद्रीय नेतृत्व भी इस बार नए चेहरों को मंत्रिमंडल में रखने का मन बना चूका है।

इसके पहले शुक्रवार को सीएम नीतीश कुमार के कैबिनेट की अंतिम बैठक हुई। कैबिनेट की बैठक में 16 वें विधानसभा को भंग करने की सिफारिश की गई. इसके बाद सीएम नीतीश कुमार ने राज्यपाल फागू चौहान से मुलाकात करके अपना इस्तीफा दिया. नीतीश कुमार ने राज्यपाल से मौजूदा विधानसभा को भंग करने की सिफारिश भी की. अब, रविवार की बैठक में सरकार गठन पर फैसला होने की संभावना है।