गुजरात में कांग्रेस के तीन विधायकों के इस्तीफे


 

राज्यसभा चुनाव की तोड़ फोड़ दिखाई देने लगी है, गुजरात के तीन कांग्रेसी विधायकों ने इस्तीफा दे दिया। भाजपा को यहां तीनो सीटें जीतने के लिए दो विधायकों की जरुरत है,

इंदौर। राज्यसभा चुनाव के जोड़तोड़ शुरू हो गई है। गुजरात से इसकी शुरुवात हो गई। शुक्रवार को गुजरात में कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। उसके तीन विधायकों ने इस्तीफा दे दिया है। 182 सदस्यों वाली गुजरात विधानसभा में अब कांग्रेस के 65 विधायक रह गए हैं।

इसके पहले मध्यप्रदेश में 23 कांग्रेसी विधायकों ने अपनी सदस्यता से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद कमलनाथ सरकार गिर गई थी। तब से कहा जा रहा है कि ये इस्तीफे का फॉर्मूला मध्यप्रदेश के बाद गुजरात, महाराष्ट्र, राजस्थान में भी दिखेगा। इसकी शुरुवात गुजरात में दिखी। कांग्रेस ने आरोप लगाया कि मजदूरों की रेल टिकट का पैसा न दे पाने वाली भाजपा विधायकों की खरीद में जमकर पैसा खर्च कर रही है।

यह मामला राज्य सभा चुनाव से ठीक पहले हुआ है। कांग्रेस के लिए ये बड़ा झटका है। 19 जून को गुजरात में राज्य सभा की चार सीटों के लिए चुनाव होना है. उसी दिन दूसरे राज्यों की 20 अन्य राज्य सभा सीटों पर भी चुनाव होगा। इससे पहले कांग्रेस को मार्च में झटका लगा था जब उसके पांच विधायकों ने इस्तीफा दे दिया था।

तीन विधायकों के इस्तीफे के बाद कॉग्रेस के वरिष्ठ नेता अहमद पटेल ने भाजपा पर विधायकों की ख़रीद-फरोख्त का इल्ज़ाम लगाया है। ट्वीट कर उन्होंने कहा, कि गुजरात सरकार दुनिया की एकमात्र सरकार है जिसने माहमारी के वक़्त लोगों को अकेले छोड़ दिया है।

सरकार प्रवासी गरीब मज़दूरों को रेल का किराया नहीं दे रही है ,लेकिन विधायकों को ख़रीदने में कोई कसर नहीं छोड़ रही है। कांग्रेस ने अपने विधायकों पर निगरानी कड़ी कर दी है। गुजरात में सत्ताधारी भाजपा के 102 विधायक हैं। भाजपा ने तीन सीटों पर उम्मीदवार उतारे हैं। औतीनों की जीत के लिए भाजपा को दो और वोटों की जरूरत थी. दूसरी तरफ कांग्रेस के दो उम्मीदवार मैदान में हैं।


2.5 2 votes
Article Rating
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments