Thursday, May 13, 2021
Home एडिटर्स नोट

एडिटर्स नोट

  जब अश्वमेघ यज्ञ की घोषणा हो और उसमे सिर्फ धुंआ और थोड़ी चिंगारी निकलेगी तो मज़ाक तो उड़ेगा ही। नहीं तो अंधेरे में चिंगारी भी शाबाशी का ही काम है, विरोधी को दुष्ट साबित करने...
दर्शक कांग्रेस में कुछ भी लम्बे वक्त तक ठहरता नहीं। अब मीडिया में खटपट है। जीतू पटवारी मीडिया अध्यक्ष हैं। अब पार्टी ने (बड़े नेताओं ने ) के के मिश्रा को मीडिया महासचिव बना दिया। यानी...
  दर्जनों गर्दनें प्रशासन ने अपने दफ्तरों में सजा रखी, जब जैसी जरुरत पड़ी एक गर्दन आगे खिसका दी। आखिर सबकुछ अच्छे की शाबाशी लेने वाले, ऐसे मामलों में अपना गुनाह कबूलने में पीछे क्यों ? पंकज...
पंकज मुकाती शनिवार को इंदौर लिटरेचर फेस्टिवल कुछ अलग रंग में दिखा। होना भी था। आखिर मामला 'उफ्फ ये मौलाना' का था पत्रकार, लेखक विजय मनोहर तिवारी की इस किताब वाले सेशन पर तालियां भी बजीं...
  मध्यप्रदेश में एक कलेक्टर को कॉफी टेबल बुक प्रकाशित करने का ऐसा शौक या जूनून है कि वे इस जोश में प्रधानमंत्री की कोरोना गाइडलाइन को तोड़कर कॉफी टेबल बुक निकालने के काम में जुटे...